Digital Signature क्या है ? Digital Signature in Hindi- Allinhindi

दोस्तो आप अपने रोज के जीवन में बहुत सारे सिग्नेचर करते हैं इस सिग्नेचर की वजह से आपकी आईडेंटिटी का पता चलता है |  लेकिन बहुत से लोग आपके सिग्नेचर की नकल करके आपके जैसे सिग्नेचर करके  आपको काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं |  इससे बचने के लिए हम  Digital Signature का इस्तेमाल करते हैं |


text

Digital Signature क्या है-


Digital Signature आफ आईडेंटिफिकेशन होता है जिसका इस्तेमाल हम ज्यादातर इंटरनेट पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए करते हैं |
 Digital Signature डिजिटल नंबर होता है जो आप के आधार कार्ड पैन कार्ड और कंपनी के डाटा को मर्ज करके बनाया जाता है |
 Digital Signature की एक Start और एक Expiry Date होती है ,  Digital Signature एक ऐसी टेक्नोलॉजी जो इंटरनेट पर भेजें किसी मैसेज या डॉक्यूमेंट की सच्चाई को प्रमाणित करता है|
उदाहरण-
 जब हम बैंक में पैसे निकालने जाते हैं तो चेक फॉर्म  भरकर उस पर अपना सही नेचर करके बैंक के कर्मचारी को दे देते हैं उसके बाद बैंक का कर्मचारी  उस सिगनेचर को आपके पुराने वाले सिग्नेचर जिसको आपने अकाउंट खुलवा के समय किया हो उस से मैच करता है उसके बाद ही आपको पैसे देता है |

 या फिर जब हम इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट में लॉगइन करते हैं तो उस वेबसाइट द्वारा हमें एक यूजरनेम और पासवर्ड दिया जाता है जो कि एक Encrypted डाटा होता है,  जब हम उस वेबसाइट में यूजर नेम और पासवर्ड डालते हैं तो वह वेबसाइट समझ जाती है और आपको अंदर जाने की परमिशन दे देती है |

Digital Signature के प्रकार -

Digital Signature सिगनेचर दो प्रकार के होते हैं-

2-Class Digital Signature-
2- class Digital Signature चार प्रकार के Digital Signature हमें Provide करता है |
1.individual Digital Signature-
 इनकम टैक्स फाइल कर सकते हैं छोटे-मोटे डॉक्यूमेंट ट्रांसफर कर सकते हैं |
2. यह आपका नाम और आपके कंपनी के नाम को मर्ज करके बनाया जाता है |
3. individual With encrypted Digital Signature-
 एक फिक्स डाटा को Secure करना दो लो डिजिटल सिगनेचर के जरिए डाटा ट्रांसफर करते हैं हमेशा इसे टैक्स बचाने के लिए इसे इंक्रिप्ट कर देते हैं |
4- Individual with Organization With name Digital Signature-
 इस प्रकार की कंपनी का नाम औरा को मर्ज करके इलेक्ट्रॉनिक नंबर बनाया जाता है जिसमें सारी चीजें आपको एडवांस लेवल की मिल जाती है |

3-Class Digital Signature-


 3-Class Digital Signature भी 2-Class Digital Signature के सामान्य काम करती है बस में थोड़ा सा बदलाव होता है  इसको आपकी कंपनी के साथ मर्ज कर दिया जाता है जिससे कि सिक्योरिटी और भी ज्यादा बढ़  जाति  हैं



digital devices and humans

Advantage of Digital Signature-


1. Digital Signature हमें Cyber Attack डोकोमेंट से बचाता है |
2. Digital Signature को कॉपी नहीं किया जा सकता है जिससे कि Fraud के  Chances कम होते हैं |
3. Digital Signature की मदद से हम किसी भी डॉक्यूमेंट को तुरंत भेज सकते हैं जबकि मैन वर्क प्रोसेस में काफी समय लगता है इसमें टाइम की बचत होती है |

 Application of Digital Signature-


1. Electronic Mail System.
2. Legal System.
3. Electronic funds Transfer System.
4. Electronic Data Exchange.

Conclusion- दोस्तों हमने इस पोस्ट में देखा की Digital Signature क्या हैDigital Signature कितने प्रकार का होता है,  इस पोस्ट से आपको थोड़ा बहुत तो पता चले गया होगा कि  Digital Signatureक्या  होता है  |
 आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें |

Related post-

Firewall क्या है, कैसे काम करता है ?

Top Programming Languages In Hindi

WordPress क्या है और कैसे काम करता है?

Digital Signature क्या है ? Digital Signature in Hindi- Allinhindi Digital Signature क्या है ? Digital Signature in Hindi- Allinhindi Reviewed by Anubhav singh on August 05, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.