Saturday, July 20, 2019

Firewall in Hindi- What is Firewall

Firewall का नाम तो आपने कंप्यूटर या Internet की दुनिया में सुना ही होगा आज हम बात करने वाले  Firewall क्या है,  कैसे काम करता है |



Firewall क्या है-




 Firewall एक ऐसी Protection होती है जब भी आप इंटरनेट यूज करते हैं वेबसाइट पर जाते हैं वीडियो देखते हैं  ,डाउनलोडिंग करते हैं या आप कुछ भी इंटरनेट पर करते हैं इन सब कामों को करते समय जो भी ट्रैफिक आपके कंप्यूटर की तरफ आता है तो Firewall उसको  Prevent करता है कि आपके कंप्यूटर में Unwanted सॉफ्टवेयर ,Malware या फिर वायरस या फिर कोई कर Corrupt फाइल या एप इंस्टॉल ना कर  दे |


Firewall आपके कंप्यूटर में  एक दीवार बनाकर रखता है आपको कंप्यूटर में बस वही ट्रैफिक आए जिसको आपने परमिशन दे रखी हो |
 अगर आपके कंप्यूटर में कोई भी वायरस आ गया है तो firewall उसको फैलने से रोकता है |







Firewall के प्रकार-

 Basically Firewall Two के होते हैं-


Hardware Firewall-

Hardware Firewall आज के सभी मॉडल आउटर में आपको देखने को मिलते हैं और अगर आप चाहे तो आप अलग से Hardware Firewall की डिवाइस ले सकते हैं  यह आपके कंप्यूटर की  सुरक्षा करता है|


 उदाहरण-

 मेरे घर में 10 कंप्यूटर हैं जो एक राउटर से कनेक्ट हैं डिवाइस में Firewall एक्टिव हैं तो वह मेरे 10 कंप्यूटर को Firewall Protection देता है वायरस को फैलने से रोकेगा |



Software Firewall-



computer screen




Software Firewall का काम भी समान ही होता है पर हम जब कोई गेम सॉफ्टवेयर अपने पीसी में इंस्टॉल करते हैं तो हमें एक पॉपअप विंडो निकल कर आती हैं बेसिकली वह  Firewall की वजह से होती है वह आप से परमिशन मांगता है कि इस सॉफ्टवेयर को इनेबल करना है या फिर डिसएबल करना है |



Firewall कैसे काम करता है

जैसा कि कॉल से पता चलता है, यह सुरक्षा दीवार के रूप में कार्य करता है। जिसके द्वारा उपयोगकर्ता ने रिकॉर्ड किए गए पैकेट को फ़िल्टर करने का अनुरोध किया है।
इसे हम आसानी से समझ सकते हैं।


मान लीजिए कि एक कार्यालय / घर में एक या कई कंप्यूटर हैं। वे वाईफाई से जुड़े नेटवर्क के माध्यम से हर दूसरे से जुड़े हुए हैं। ऐसे नेटवर्क को निजी नेटवर्क के रूप में जाना जाता है।


जब भी कोई व्यक्ति अपने घरेलू या कार्यालय में कंप्यूटर सिस्टम या अन्य उपकरणों के माध्यम से इंटरनेट से जुड़े एक सार्वजनिक समुदाय से जुड़ता है, तो लगातार उसके कंप्यूटर में पूरे इंटरनेट में फैले सभी हानिकारक सॉफ्टवेयर्स तक पहुंच का अवसर होता है।



फ़ायरवॉल इन निजी और सार्वजनिक नेटवर्क के बीच सुरक्षा दीवार के रूप में कार्य करता है। यह दोनों तरफ नेटवर्क की सुरक्षा करता है। उपभोक्ता के पीसी से इंटरनेट तक वायरस इसे जाने से रोकता है, और उपभोक्ता के कंप्यूटर को इंटरनेट क्षति से बचाता है।


इसलिए इसे दो तरह से सुरक्षा प्रदाता के रूप में संदर्भित किया जाता है।
जब भी इंटरनेट पर उपयोगकर्ता की सहायता से कोई अनुरोध भेजा जाता है, तो वह अनुरोध सबसे पहले फ़ायरवॉल डिवाइस या सॉफ़्टवेयर तक पहुंचता है।


Firewall उस अनुरोध के लिए रिकॉर्ड पैकेट और उसके साथ आने वाली नेटवर्क आईडी को याद करता है। जब उसका परिणाम इंटरनेट से वापस अपने सार्वजनिक नेटवर्क पर आता है, तो फ़ायरवॉल इसे स्वीकार करता है और सांख्यिकी पैकेट की जांच करता है और विश्वसनीय नियमों और व्यक्ति के भत्ते का परीक्षण करता है। इसके अलावा, तीसरे उत्सव के ऐप्स, वायरस आदि की जांच करने के बाद, उन्हें फिर गैर-सार्वजनिक नेटवर्क में आने दिया जाता है।


फ़ायरवॉल के सुविधाएँ (Firewall Ke Features)

वैसे, कई फ़ायरवॉल के फीचर्स हैं, क्योंकि यह बिल्कुल हमारे कंप्यूटर सिस्टम और लैपटॉप की सुरक्षा करता है, आइए जानते हैं कुछ प्रमुख फ़ायरवॉल के फीचर्स|

आगंतुकों पर नज़र रखता है

फ़ायरवॉल आपके पीसी नेटवर्क में प्रवेश करने वाले सभी ट्रैफ़िक पर नज़र रखता है। फ़ायरवॉल डबल ड्यूटी करता है, क्योंकि फ़ायरवॉल नेटवर्क से बाहर जाने वाले साइट विज़िटर पर भी नज़र रखता है।

हैकर्स को रोकता है

फ़ायरवॉल सुरक्षा के बिना, एक हैकर आसानी से आपके PC को हैक कर सकता है और वायरस फैलाने के माध्यम से आपको नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि फ़ायरवॉल के कारण हैकर्स आपके नेटवर्क से बाहर रहते हैं।

वायरस से सुरक्षा-

यदि आपका पीसी किसी अन्य पीसी थ्रू नेटवर्किंग से जुड़ा है और आप फाइलें साझा कर रहे हैं, तो उस समय फ़ायरवॉल आपके लैपटॉप को अन्य लैपटॉप से आने वाले वायरस से बचा देगा, यदि आपके लैपटॉप में वायरस है तो फ़ायरवॉल इसे दूसरे कंप्यूटर में भी बना सकता है। रुकता जा रहा है।

Firewall के फायदे-



1. Protecting Network against Attacks
2. Prevent Vandals From Logging into Machines.
3. Provide Important Logging and Auditing Function.



 Firewall  के नुकसान-


1. Firewall cant't Protect Against Attacks that don't go through it.2.Firewall cant't really protect against its traitors inside network.


Conclusion-

 दोस्तों हमने देखा कि Firewall क्या है कैसे काम करता है और Firewall के प्रकार  मैं उम्मीद करता हूं कि यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी,  अगर पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें |




No comments:

Post a Comment